Wednesday, February 1, 2023
Homeफेस्टिवलश्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी मनाते...

श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी मनाते हैं, जानें इस त्योहार से जुड़ी ये अहम बातें

- Advertisement -

इंडिया न्यूज़ :

Sawan Month Nag Panchami 2022 : हिन्दू पंचांग के अनुसार नाग पंचमी सावन मास की शुक्ल पंचमी को मनाई जाती है। इस वर्ष नाग पंचमी का पर्व 02 अगस्त को मनाया जाएगा। इस दिन शिव भक्त नाग देवता की विशेष पूजा करते हैं। मंदिरों में नाग देवता का जलाभिषेक किया जाता है और उन्हें दूध चढ़ाया जाता है। इस दिन शिव भक्त व्रत भी रखते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन नाग देवता की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और भक्तों की सभी परेशानियों को दूर करते हैं। आइए जानते हैं नाग पंचमी से जुड़ी कुछ अहम बातें।

नाग पंचमी का महत्व

हिंदू त्योहारों में नाग पंचमी का विशेष महत्व है। नाग शिव के गले का आभूषण है। नाग पंचमी पर जीवन में सुख-समृद्धि, खेतों में फसलों की सुरक्षा के लिए नाग देवता की पूजा की जाती है। नाग पंचमी के पर्व पर भगवान भोलेनाथ की पूजा करने और नाग देवता के साथ रुद्राभिषेक करने से जीवन में कालसर्प दोष समाप्त हो जाता है। इस दिन नागों का अभिषेक कर उन्हें दूध पिलाने से पुण्य की प्राप्ति होती है। शास्त्रों के अनुसार अगर नाग पंचमी के दिन घर के बाहर सांप की तस्वीर बनाई जाए तो परिवार पर नाग देवता की कृपा बनी रहती है।

नाग पंचमी पर क्या करें और क्या ना करें

नाग पंचमी पर उपवास रखना चाहिए, नाग देवताओं की पूजा करें, उनका जलाभिषेक करें, फूल व दूध चढ़ायें। साथ ही नाग मंत्र का भी जाप करें।

अगर कुंडली में राहु केतु भारी हैं, तो नाग पंचमी पर जरूर सांपों की पूजा करें। शिवलिंग या नाग देवता को दूध चढ़ाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि दूध पीतल के लोटे में हो।

नाग पंचमी पर सूई धागे का इस्तेमाल करना भी अशुभ माना जाता है और इस दिन लोहे के बर्तन में भोजन नहीं बनाना चाहिए।

ये भी पढ़ें : हरियाली तीज को खास बनाएंगे ये पकवान, जरूर करें ट्राई

Connect With Us : Twitter, Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular