Sunday, November 27, 2022
Homeफेस्टिवलकब है Vat Savitri Vrat 2022 जानें तिथि, पूजा का महत्व

कब है Vat Savitri Vrat 2022 जानें तिथि, पूजा का महत्व

Vat Savitri Vrat 2022

- Advertisement -

ज्येष्ठ अमावस्या के दिन विवाहित महिलाओं को अखंड सौभाग्य प्रदान करने वाला वट सावित्री व्रत किया जाता है। वट सावित्री व्रत के दिन महिलाएं व्रत रखती हैं और वट वृक्ष की पूजा करती हैं। इस दिन पति की लंबी उम्र और सुखी वैवाहिक जीवन के लिए व्रत रखा जाता है। जबकि महाराष्ट्र, गुजरात और दक्षिण भारत के राज्यों में वट सावित्री व्रत 15 दिनों के बाद यानी ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा पर रखा जाता है। इस साल वट सावित्री के व्रत पर भी विशेष संयोग बन रहा है। इस बार वट सावित्री का व्रत 30 मई को रखा जाएगा।

वट सावित्री व्रत का महत्व

पौराणिक कथा के अनुसार, सावित्री अपने पति सत्यवान को पुन: जीवन देने के लिए यमराज को भी विवश कर दिया था। उनकी पतिव्रता धर्म से प्रभावित होकर यमराज ने उनके पति सत्यवान को प्राणदान दिया था, जिससे वे मृत्यु के बाद फिर से जीवित हो गए थे। पतिव्रता सावित्री की कथा अमर हो गई और तब से हर साल ज्येष्ठ अमावस्या को वट सावित्री व्रत रखा जाने लगा।

वट सावित्री व्रत में कैसे करें पूजा?

vat savitri vrat 2022 know date time vat savitri vrat puja vidhi and pujan shubh muhurat। Vat Savitri Vrat 2022: पति की लंबी आयु के लिए सुहागिनें रखेंगी वट सावित्री व्रत, जानें

वट सावित्री व्रत में सुहागिन महिलाएं बरगद के पेड़ की पूजा करती हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन पत्नियां बरगद की उम्र के समान ही पति की उम्र की कामना करती हैं। इस वृक्ष की पूजा करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। इस दिन वटवृक्ष को जल से सींचकर उसके तने के चारों ओर परिक्रमा करते हुए कलावा बांधने की परंपरा होती है।

Also Read : जाने इस साल कब है Mother’s Day और क्या है मदर्स डे का इतिहास

Also Read : Parshuram Jayanti पर विधि-विधान से उनकी पूजा की जाती है, जाने पूजा की विधि

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular