Sunday, January 29, 2023
Homeजयपुरबेरोजगारों का 26 वें दिन भी सत्याग्रह जारी, सीएम गहलोत से बात...

बेरोजगारों का 26 वें दिन भी सत्याग्रह जारी, सीएम गहलोत से बात करके निकल पायेगा युवा बेरोजगारों की मांगों का निस्तारण

- Advertisement -

(जयपुर): राजस्थान बेरोजगार एकीकृत  महासंघ के प्रतिनिधिनि मंडल ने आज यानी 27 अक्टूबर को अहमदाबाद में ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी से मुलाकात की। उपेन यादव ने बताया कि प्रतिनिधिनिमंडल ने अपनी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर मुलाकात की हैं। बेरोजगारों की मांग पूरी करने के लिए सीएम गहलोत से मुलाकात की मांग रखी।

बेरोजगारों का 26 वें दिन भी सत्याग्रह जारी

अपको बता दें राजस्थान के बेरोजगारों का 26 वें दिन भी अहमदाबाद में सत्याग्रह जारी है। महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया कि राज्य सरकार ने अभी तक युवा बेरोजगारों की सुध नहीं ली है और ना कोई सुनवाई की गयी हैं। बेरोजगारों को वार्ता के लिए भी नहीं बुलाया है।

युवा बेरोजगारों की 20 सूत्री मांगों को हल करवाने की की पहल

उपेन यादव ने बताया कि हमने पहले गुजरात अहमदाबाद में राजस्थान के मंत्रियों का विरोध करने का निर्णय लिया था, लेकिन हमने एक सकारात्मक पहल करते हुए विरोध के बजाय वार्ता के माध्यम से युवा बेरोजगारों की 20 सूत्री मांगों को हल करवाने की पहल की है। उसी पहल के तहत विशिष्ट अतिथि गृह अहमदाबाद में ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी से मिले हैं।

मंत्री से मुलाकात करके युवा बेरोजगारों की मांगों को पूरी करवाने और मुख्यमंत्री से वार्ता करवाने की मांग रखी है। मंत्री भाटी ने सीएम गहलोत से बात करके युवा बेरोजगारों की मांगों का जल्द निस्तारण करवाने तथा युवा बेरोजगारों के प्रतिनिधि मंडल की वार्ता करवाने का आश्वासन दिया है।

20 सूत्रीय मांगों को लेकर निकाली थी दांड़ी यात्रा

अपको बता दें कि राजस्थान बेरोजगार महासंघ अपनी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर दांड़ी यात्रा निकाली थी। जिनमें  कंप्यूटर अनुदेशक भर्ती में 40फीसदी की बाध्यता में शिथिलता देकर सभी खाली पदों को भरने,राजकीय आईटीआई कॉलेजों में 1500 पदों पर कनिष्ठ अनुदेशक भर्ती की विज्ञप्ति जारी करने, पंचायतीराज JEN भर्ती की विज्ञप्ति जारी करने, ग्राम पंचायत ई मित्र संचालक संघ से जुड़े ई मित्र ऑपरेटर अभ्यर्थियों की तमाम मांगों को जल्द से जल्द पूरा करने और प्रतियोगी भर्ती परीक्षाओं में ओबीसी ईडब्ल्यूएस के नवीनतम सर्टिफिकेट को मान्य किया और किसी भी चयनित अभ्यर्थियों को सर्टिफिकेट की वजह से बाहर नहीं करने की मांग प्रमुख है।

 

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular