Wednesday, February 1, 2023
Homeजयपुरराहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा लगभग आधा...

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा लगभग आधा सफर कर चुकी तय, राजस्थान में राहुल यात्रा को लेकर पूरी हुई तैयारियां

- Advertisement -

(जयपुर): राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा लगभग आधा सफर तय कर चुकी है. यात्रा का चार दिसंबर को राजस्थान आना प्रस्तावित है. कार्यक्रम में एक या दो दिन का बदलाव संभव है. राजस्थान में राहुल यात्रा को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है. रूट चार्ट तय हो गया है.

भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान के मध्यप्रदेश से झालावाड में प्रवेश कर 7 जिलों से होकर गुजरेगी. इस दौरान झालावाड़ जिले की झालरापाटन, कोटा की लाडपुरा, कोटा उत्तर, कोटा दक्षिण और रामगंज मंडी विधानसक्षा क्षेत्रों से यात्रा गुजरेगी.

भारत जोड़ो यात्रा अलवर जिले में करेगी प्रवेश

कोटा के बाद बूंदी की केशोरायपाटन क्षेत्र से होते हुए यात्रा टोंक जिले की देवली और उनियारा से गुजरते हुए सवाई माधोपुर जिले में प्रवेश करेगी. सवाई माधोपुर की बामनवास और लालसोट के बाद दौसा जिले में की दौसा, लालसोट, सिकराय, बांदीकुई विधानसभा क्षेत्रों को कवर करते हुए भारत जोड़ो यात्रा अलवर जिले में प्रवेश करेगी. अलवर की 4 विधानसभाओं अलवर ग्रामीण, रामगढ़, राजगढ़, लक्ष्मणगढ़ से होते हुए हरियाणा की सीमा में प्रवेश करेगी. इन जिलों में यात्रा 521 किलोमीटर का सफर तय करेगी.

यात्रा करीब 17 दिन तक राजस्थान में रहेगी

यात्रा करीब 17 दिन तक राजस्थान में रहेगी. यात्रा में हाड़ौती के झालावाड़ कोटा बूंदी पर फोकस के अलावा कांग्रेस के परंपरागत गढ़ पर भी नजर है. यात्रा में कोटा, जयपुर ग्रामीण, सीकर, अजमेर, दौसा, अलवर जैसी छह लोकसभा सीटें जुड़ी हुई है. 19 विधानसभा सीटें भी हैं हाड़ौती के अलावा दूदू,अजमेर, चौमूं, सीकर, जमवारामगढ़ दौसा, बस्सी दौसा, बानसूर जयपुर ग्रामीण में आती हैं. संभाग के हिसाब से कोटा जयपुर अलवर, सीकर, झुंझुनूं, दौसा जिलों की करीब 30 विधानसभा भी कवर होंगी.

यात्रा के लिए तीन तरह की कैटेगरी बनाई गई

अगर नेताओं के लिहाज से देखें खास तौर पर शांति धारीवाल अशोक चांदना प्रमोद भाया जैन बड़े नेताओं में शामिल हैं. जिनके यहां यात्रा का आगाज होगा. इसके बाद सचिन पायलट के गढ़ कहे जाने वाले टोंक और पूर्वी राजस्थान से यात्रा का एक लंबा रूट रहने वाला है. पूर्वी राजस्थान की बात करें तो यहां पर ममता भूपेश परसादी लाल मीणा मुरारीलाल मीणा शकुंतला रावत जैसे मंत्रियों के क्षेत्र भी आते हैं.

यात्रा के लिए बनायी गई 35 सदस्य कमेटी में सरकार के मंत्रियों और PCC के पदाधिकारियों को शामिल किया गया है. यात्रा के लिए तीन तरह की कैटेगरी बनाई गई हैं. जो लोग जिले में चलना चाहते हैं वह जिला यात्री कहलाएंगे. जो पूरे राजस्थान में चलना चाहते हैं वह प्रदेश यात्री कहलाएंगे और जो लोग 10 किलोमीटर, 20 किलोमीटर या 50 किलोमीटर चलना चाहते हैं, वे अतिथि यात्री कहलाएंगे.

राहुल गांधी का राजस्थानी पारंपरिक तरीके से होगा स्वागत

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा पर यात्रा की पुरे इंतजाम और मॉनिटरिंग की भी जिम्मेदारी है . भारत जोड़ो यात्रा का स्वागत राजस्थानी अंदाज में किया जाएगा. प्रदेश कांग्रेस स्तर पर इस संबंध में तैयारियां की जा रही है.

राहुल गांधी जब मध्य प्रदेश से राजस्थान के झालावाड़ में प्रवेश करेंगे तब ना केवल राजस्थानी पारंपरिक तरीके से उनका स्वागत होगा बल्कि यात्रा के दौरान भारत जोड़ो यात्रियों के लिए खाने और इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर भी पूरी तरीके से राजस्थानी अंदाज की छाप रहेगी. राहुल गांधी को खाने में दाल बाटी चूरमा सहित अलग अलग तरह की राजस्थानी व्यंजन भी परोसे जाएंगे.

राहुल गांधी की यात्रा प्रवेश में सुरक्षा और यातायात की व्यवस्था

साथ ही राजस्थानी नृत्य गीत संगीत भी इस यात्रा के दौरान दिखाई देंगे. बड़ी बात यह कि राहुल गांधी की यात्रा मध्य प्रदेश से हाड़ौती झालावाड़ कोटा से लेकर पूर्वी राजस्थान के अलवर तक जाएगी इस दौरान राजस्थान के व्यंजनों और कल्चर में भी अलग अलग वेरायटी दिखाई देगी.

प्रदेश कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी की इस यात्रा के लिए प्रदेश स्तरीय कोऑर्डिनेशन कमेटी के अलावा अलग अलग कमेटियां भी बनायी गई है जिनके पास भारत जोड़ो यात्रियों के साथ राजस्थान यात्रियों के रहने खाने धरने ट्रांसपोर्ट सहित विभिन्न सुविधाओं की जिम्मेदारी होगी. राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के प्रवेश के समय सुरक्षा और यातायात की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है.

यात्रा के दौरान 3-4 हजार पुलिसकर्मी होंगे तैनात

भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान के झालावाड़, कोटा ग्रामीण, कोटा शहर, बूंदी, सवाईमाधोपुर, दौसा एवं अलवर से होकर गुजरेगी. इस यात्रा” के लिये पुलिस ने पुख्ता बंदोबस्त की तैयारियां शुरू कर दी है. इस दौरान 3-4 हजार पुलिसकर्मी तैनात होंगे.

इनके लिए ड्यूटी के दौरान खाने पीने, रात्रि विश्राम प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पूर्व तैयारियां शुरू की जा चुकी है.यात्रा के दौरान आने वाले भीड़ एवं वीवीआईपी की सुरक्षा को ध्यान में रखते यात्रा रूटों पर ट्राफिक डायवर्सन की प्लानिंग की जा रही है.

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular