Monday, September 26, 2022
Homeकाम की बातबच्चों को ज़रूरत से ज्यादा अनुशासित करने से वे पैरेंट्स के प्रति...

बच्चों को ज़रूरत से ज्यादा अनुशासित करने से वे पैरेंट्स के प्रति विश्‍वास खोने लगते हैं, जानिए जरूरत से ज्यादा अनुशासन के नुकसान

इंडिया न्यूज़ :

Disadvantages of Over Discipline : जीवन में अनुशासन जरूरी है। माता-पिता अपना पहला पाठ घर से ही देते हैं, लेकिन अगर अनुशासन के नाम पर आप बच्चों को मानसिक रूप से कमजोर करने लगें तो यह निश्चित रूप से आपके पालन-पोषण का गलत तरीका हो सकता है। दरअसल, कई माता-पिता मानते हैं कि उनका काम बच्चों को अनुशासन सिखाना है और इसके लिए वे किसी भी हद तक जा सकते हैं। आपके लिए यह जानना भी जरूरी है कि आपकी इस जिद की वजह से आपके बच्चों में कई नकारात्मक चीजें भी पैदा होंगी। ऐसे में वे या तो कायर हो जाएंगे या फिर अपनी गलतियों को छिपाना सीख जाएंगे। यहां हम आपको बताते हैं कि अत्यधिक अनुशासन के क्या नुकसान हो सकते हैं।

बचपन में ज़रूरत से ज्‍यादा अनुशासन के नुकसान

डरने लगते हैं बच्‍चे

अगर आप बच्चों को जरूरत से ज्यादा अनुशासित करते हैं, तो वे आपसे खुलकर अपनी बात कहना बंद कर देते हैं। इतना ही नहीं वे आपसे डरने लगते हैं। हार का डर भी उन्हें सताता है, जिससे वे प्रतियोगिताओं में भाग लेने से बचने लगते हैं।

कॉन्फिडेंस की कमी

जब आप अपने बच्चे को ज्यादा अनुशासन में रखते हैं, तो ये उनमें कॉन्फिडेंस को कम करने लगता है। ऐसे बच्चे बैक बेंचर हो जाते हैं और कभी भी अपनी बात खुल कर नहीं रखते।

आपके प्रति अविश्वास

बच्चों को ज़रूरत से ज्यादा अनुशासित करने से वे आपके प्रति विश्‍वास खोने लगते हैं। ऐसे बच्चे कितने भी मुश्किलों में रहें, अपने माता-पिता से खुल कर बात नहीं बताते।

समाज से कट जाते हैं

बचपन से ज्यादा अनुशासित करके से बच्‍चे इंट्रोवर्ट होने लगते हैं और लोगों से दूर रहना पसंद करते हैं। यही नहीं, वे धीरे धीर समाज से दूर-दूर रहने लगते हैं और इस वजह से उनका फ्रेंड सर्कल भी नहीं बन पाता। ऐसे में वे निराशा से भर जाते हैं।

ये भी पढ़ें : झूला झूलने से बॉडी फिजिकली और मेंटली दोनों तरह से रिलैक्स महसूस करती है, जाने हेल्थ बेनिफिट्स

Connect With Us : Twitter, Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular