Wednesday, February 1, 2023
Homeराजस्थानसरकारी नौकरी में परेशानी से बचने के लिए मां-बाप ने अपनी ही...

सरकारी नौकरी में परेशानी से बचने के लिए मां-बाप ने अपनी ही मासूम को उतारा मौत के घाट

- Advertisement -

बीकानेर:(Due to a government job, the parents killed their five-month-old child and threw them into the canal): राजस्थान में एक दिल को झंझोड़ने वाला मामला सामने आया है। जहां मां-बाप अपनी ही मासूम के कातिल बने। जी हां ये मामला राजस्थान के बीकानेर से सामने आया है, यहा सरकारी नौकरी के चलते मां-बाप ने अपनी पांच महीने की मासूम को मौत के घाट उतारा और फिर नहर में फेंक दिया।

दरअसल बीकानेर में रहने वाले एक पिता ने अपनी सरकारी नौकरी को बचाने के लिए किया, अपनी बच्ची को मार दिया। यह जघन्य अपराध उसके संविदा पर मिली सरकारी नौकरी में परेशानी से बचने के लिए पिता झंवरलाल ​​​​​​ने बेटी अंशिका उर्फ अंशु को मार दिया।

पुलिस ने आरोपी मां-पिता दोनों को गिरफ्तार कर लिया है

पुलिस ने आरोपी मां-पिता दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। यह घटना बीकानेर के छत्तरगढ़ थाना इलाके की है, जहां झंवरलाल चांडासर गांव में बच्ची का पिता विद्यालय सहायक के पद पर संविदा का काम करता है। छानबीन का बाद पुलिस अधीक्षक योगेश यादव ने बताया कि झंवरलाल ने इस घटना में अपनी पत्नी को भी शामिल कर लिया था।

वो दो दिन पहले ही छत्तरगढ़ स्थित अपने साले के घर गया था। 22 जनवरी यानी रविवार की शाम को चार सीएचडी स्थित साले के घर से वापस दियातरा जाते समय रास्ते में बच्ची को नहर में फेंक दिया। फिर दोनो यहां से दियातरा के लिए रवाना हो गया।

मासूम को नहर में फेंकते देख कुछ लोग चिल्लाए

झंवरलाल बाइक पर अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ था। 22 जनवरी यानी रविवार की शाम 5 बजे दंपती ने 5 महीने की बच्ची को इंदिरा गांधी नहर प्रोजेक्ट यानी IGNP में फेंक दिया। मासूम को फेंकते देख कुछ लोग चिल्लाए तो बाइक सवार ने बाइक का रफ्तार तेज कर भाग गया। लोगों ने बच्ची को नहर से बाहर निकाला और डॉक्टर के पास लेकर गए जहां डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। आपको बता दे कि पुलिस के मां-पिता दोनो को हिरासत में ले लिया है।

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular